Spread the love

कोरोना की दूसरी लहर पहली से ज्यादा खत’रना’क है। जिसके कारण लाखों लोग संक्रमित हो रहे हैं और शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने के कारण हजारों लोग जान गवां रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप खुद का ख्याल रखकर इस खत’रना’क बीमा’री से खुद को बचा सके। कई रिपोर्टों के अनुसार कोरोना से बचाव के लिए आपकी इम्यूनिटी काफी मजबूत होनी चाहिए। जिससे कि कोई भी संक्रामक बीमा’री आपको अपना शिकार न बना सके।

लो इम्यूनिटी के कारण आप कोरोना ही नहीं बल्कि कई अन्य संक्रामक रोगों के शिकार हो सकते हैं। इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर डाइट, एक्सरसाइज, योग के साथ-साथ इस आयुर्वेदिक काढ़ा को शामिल करें। विभिन्न मसालों का इस्तेमाल न करके कुछ चीजों से मिलाकर काढ़ा बना लें। इसका सेवन करने से आपकी इम्यूनिटी बूस्ट होने के साथ कई अन्य बीमारियों से भी लाभ मिलेगा।

लिवर को बनाना चाहते हैं मजबूत, पपीते के पत्तों के साथ ये 5 चीजें मिलाकर ऐसे करें सेवन इम्यूनिटी बूस्टर काढ़ा बनाने के लिए सामग्री
गिलोय की एक डंडी और कुछ पत्तियां
7-8 तुलसी की पत्तियां
8-9 नीम की पत्तियां
ऐसे बनाएं काढ़ा
एक पैन में 400 एमएल पानी डालकर उबाले। इसके साथ ही इसमें नीम, गिलोय और तुलसी की पत्तियां डाल दें और धीमी आंच में पकने दें। जब पानी 100 या 50 एमएल बचे तो गैस बंद कर दें। इसके बाद इसे ठंडा होने के बाद इसका सेवन करे।

कैसे कारगर होगा यह काढ़ा
गिलोय

गिलोय में गिलोइन नामक ग्लूकोसाइड और टीनोस्पोरिन, पामेरिन एवं टीनोस्पोरिक एसिड पाया जाता है। इसके अलावा इसमें कॉपर, आयरन, फास्फोरस, जिंक,कैल्शियम, मैग्नीशियम के साथ-साथ एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-कैंसर आदि तत्व पाए जाते हैं। जो इम्यूनिटी बूस्ट करने के साथ लंग्स, लिवर, हार्ट को हेल्दी रखने में मदद करता है। इसका सेवन आप जूस के तौर पर या फिर काढ़ा और गोली के रूप में कर सकते हैं।

तुलसी
तुलसी के पत्ते में अधिक मात्रा में पोटैशियम, आयरन, क्लोरोफिल मैग्नीशियम, कैरीटीन और विटामिन-सी के साथ एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुए पाए जाते हैं।

नीम
नीम के अर्क में डायबिटीज को कंट्रोल करने के साथ वायरस से लड़ने के गुण पाए जाते हैं। नीम के तने, जड़, छाल और कच्चे फलों का इस्तेमाल किसी न किसी रोग से निजात पाने में किया जाता है। नीम प्राकृतिक एंटी ऑक्सीडेंट है। जो इम्यूनिटी बूस्ट करने के साथ ब्लड सर्कुलेशन को ठीक रखने में मदद करती है।